स्वच्छ भारत मिशन के कार्यों की हुई समीक्षा

0
297

उपायुक्त मृत्युंजय कुमार बरणवाल की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित की गई। उपायुक्त बरणवाल के द्वारा शौचालय निर्माण की धीमी गति एवं उपयोगिता प्रमाण पत्रों के कम जमा किये जाने पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत् कार्य कर रहे सभी डीपीएम, ब्लाॅक काॅरडिनेटर एवं सोशल मोबिलाईजर के वेतन पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने कहा कि रविवार तक कार्य में प्रगति नहीं दिखाने पर इन कर्मियों को बर्खाश्त कर नई बहाली की प्रक्रिया प्रारंभ की जायेगी।

प्रत्येक दिन करें पंचायतों का निरीक्षण 

उपायुक्त बरणवाल ने ब्लाॅक काॅरडिनेटर एवं सोशल मोबिलाईजर को निर्देश दिया कि वें प्रत्येक दिन अलग-अलग पंचायतों का निरीक्षण करें तथा प्रतिदिन पंचायतों में कितनी राशि भेजी गई, कितना गड्ढा खोदा गया, कितने उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा किये गए और कितने मेसन ने काम किया का रिपोर्ट जिला वाररूम को उपलब्ध कराये। उन्होंने जिला स्वच्छता प्रेरक श्रीमती मैत्री गांगुली को निदेश दिया कि प्रतिदिन इसकी माॅनिटरिंग भी करें।

शौचालय निर्माण का पैसा पूरा खर्च करें मुखिया 

उपायुक्त बरणवाल ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों को निदेश दिया कि वे अपने प्रखण्ड क्षेत्र के प्रत्येक मुखिया को शौचालय निर्माण का पैसा पूर्ण रूप से खर्च करायें। उनके अनुसार किसी भी मुखिया के द्वारा कार्य में लापरवाही बरते जाने पर उनके वितीय शक्ति पर प्रतिबंध लगा दिया जायेगा। बैठक में उप विकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा, निदेशक डीपीएलआर -सह- नोडल पदाधिकारी स्वच्छ भारत मिशन एस.एन.उपाध्याय, जिला स्वच्छता प्रेरक मैत्री गांगुली, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी चास शशि भूषण पुरण, कार्यपालक अभियंता पीएचइडी तेनुघाट राम प्रवेश राम सहित सभी ब्लाॅक काॅरडिनेटर, सोशल मोबिलाईजर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here