रेल रोको आंदोलन के कारण रेलवे को 21.14 करोड़ का नुकसान

0
551

बोकारो: आद्रा, 22.05.18: दक्षिण पूर्व रेलवे के आद्रा मंडल के मधुकुण्डा, इन्द्रबिल एवं कांटाडीह स्टेशनों पर झारखण्ड दिशोम पार्टी एवं आदिवासी सेंगेल अभियान के समर्थकों द्वारा किए गए दिनांक 21मई 2018 को रेल रोकेा आंदोलन से रेल, राज्य एवं यात्रियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा, जिसके परिणामस्वरूप दिनांक 21 मई 2018 एवं 22 मई 2018 को आद्रा मंडल की दर्जनों ट्रेनें रद्द की गईं।

13 सवारी गाड़ियों शॉर्ट टर्मिनेट किया गया 

मंडल रेल प्रबंधक शरद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि इस आंदोलन के कारण कुल 25 सवारी गाड़ियां रद्द की गईं जिससे रेलवे को 06 करोड़ रुपए के राजस्व की हानि हुई जबकि 13 सवारी गाड़ियों को शॉर्ट टर्मिनेट करना पड़ा, जिससे रेलवे को 2.80 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। इसी क्रम में चार सवारी गाड़ियों को मार्ग परिवर्तित कर चलाया गया जिससे रेलवे को 6.40 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

80 मालगाड़ियों को रोकना पड़ा 

श्रीवास्तव ने आगे बताया कि इस आंदोलन के परिणामस्वरूप 80 मालगाड़ियों को विभिन्न स्टेशनों रोकना पड़ा जिससे रेलवे को माल लदान से आय के मद में 11.52 करोड़ रुपए की हानि हुई। दो मालगाड़ियों मे लदान नहीं किया जा सका जिससे रेलवे की परिसंपत्ति के उपयोग के मद में 90 लाख 3पए का नुकसान हुआ। इस प्रकार सवारी और माल गाड़ी का परिचालन ठप होने से रेलवे को कुल 21.14 करोड़ रुपए की हानि हुई। मंडल रेल प्रबंधक शरद कुमार श्रीवास्तव ने निराशा व्यक्त कर बताया कि इस तरह के आंदोलन से न केवल रेल एवं राष्ट्र की क्षति होती हैं बल्कि आम जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तथा इससे समाज की छवि धूमिल होती है।

यह भी पढ़े :चंदनकियारी के उभरते हुए कलाकार ऋतुराज तिवारी ने की डीसी से…

गोमिया विधानसभा चुनाव में 2130 मतदान कर्मी लगाए जाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here