एक नेशन एक वेतन बोर्ड बनाने की जरूरत

0
3447

बोकारो: एचएमएस से सम्बद्ध जनता मजदूर सभा ने प्लांट के अंदर सीआरएम के जीएम ऑफिस पर मजदूर दिवस मनाया गया। आठ घंटा काम निर्धारण करने में शहीद हुए मजदूरों को श्रद्धांजलि दी गई। सम्बोधित करते हुए यूनियन के महासचिव सह आजसू पार्टी के केन्द्रीय संगठन सचिव साधु शरण गोप ने कहा कि एक नेशन एक वेतन बोर्ड बनना चाहिए। ताकि चपरासी से राष्ट्रपति का वेतन वृद्धि अनुपातिक हो सके। मजदूर दिवस को राष्ट्रीय पर्व का दर्जा मिले और छुट्टी घोषित हो। श्रम कानून के उल्लघंन करने वालों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान हो। बीएसएल मजदूर दिवस मनाएं। वेज रिवीजन जल्द हो। ठेका मजदूरों को पन्द्रह हजार वेतन दिया जाए। स्थायी प्रकृति के ठेका मजदूरों को उनके पद के अनुकुल वेतन मिले।

ठेका मजदूरों को दिया जाए 15 हजार रुपए वेतन

जेजेएमएस के महामंत्री बीके चौधरी ने बीएसएल-ठेका मजदूर एकता पर जोर देते हुए कहा कि सेल में अंधा कानून चल रहा है। लोकतंत्र है ही नहीं। मान्यता प्राप्त यूनियन का चुनाव नहीं हो रहा है। वहीं मान्यता लेकर बैठा यूनियन मजदूरों की बात नहीं कर रहा है। मजदूर बड़ी आंदोलन तो करते हैं। लेकिन समझौता पर मान्यता यूनियन बैठता हैं नतीजा पुनः मजदूर ठगे जाते हैं। चुनाव जब तक नहीं होगा, मजदूरों के अधिकार में कटौती होती रहेगी। सभा का अध्यक्षता संदीप आश, संचालन जे आर गोप ने किया। केन्द्रीय उपाध्यक्ष जमाल अंसारी, प्रदीप महतो, शंकर कुमार, एम एल गोप, भैरव महतो, राजेन्द्र महतो , एस के यादव, आर के यादव , चंदु मुण्डा ने भी सम्बोधित किया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here