सीएनसी लेथ मशीन ऑपरेटर आईपी रिंग्स को दिखाई गई हरी झंडी

0
437

बोकारो: कल्याण विभाग की ओर से चास काॅलेज परिसर स्थित छात्रावास में कल्याण गुरूकुल के दूसरे बैच के प्रशिक्षण प्राप्त 17 युवाओं को उप विकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा ने हरी झंडी दिखाकर सीएनसी लेथ मशीन ऑपरेटर में आई.पी. रिंग्स, चेन्नई में रोजगार के लिए रवाना किया। उप विकास आयुक्त मिश्रा ने कहा कि सारे युवा अपने नये जीवन की शुरूआत करने जा रहे हैं, वे माता-पिता का आशीर्वाद लेते हुए नौकरी में लगन और अनुशासन से काम करते हुए अपने जिले का नाम रोशन करें। उन्होंने गुरूकुल के प्राचार्य को ज्यादा से ज्यादा बेरोजगार युवाओं को जोड़कर प्रशिक्षित करते हुए सुनिश्चित रोजगार का अवसर दिलाने का निर्देश दिया। वहीं गुरूकुल के प्राचार्य प्रवीण कुमार मंडल ने बताया कि तीसरे बैच के लिए 08 मई, 2018 से नामांकन शुरू किया जायेगा एवं 17 मई, 2018 तक नामांकन का आखरी तारीख होगा। उन्होंने कहा कि कल्याण गुरूकुल का यह कार्य आगे भी हमेशा जारी रहेगा तथा युवाओं को प्रशिक्षित कर स्वरोजगार हेतु तैयार किया जायेगा। साथ ही उन्होंने बताया कि गुरूकुल के द्वारा युवाओं को निःशुल्क प्रशिक्षण के साथ रहने और खाने की सुविधा भी दी जाती है।

सबसे पहले 20 युवाओं प्रशिक्षण दिया गया 

ज्ञातव्य हो कि झारखण्ड सरकार, कल्याण विभाग एवं पैन आई आई टी एलुमनाई रीच फाॅर झारखण्ड फाउण्डेशन द्वारा बोकारो में कल्याण गुरूकुल वर्ष 2017 में स्थापित किया गया था। यहां बेरोजगार युवाओं को सफल तकनीकी प्रशिक्षण के उपरांत भारत की नामी कंपनी में नियोजित किया जाता है। पूर्व में भी इस प्रशिक्षण केन्द्र से पहले बैच के 20 युवाओं को प्रशिक्षित कर गुजरात के राजकोट स्थित पेंटागोन फोर्ज एण्ड मशीन लिमिटेड प्राईवेट कम्पनी में रोजगार हेतु भेजा गया था। दूसरे बैच में रोजगार पाने वाले बोकारो के सुदामा शर्मा, नित्यानंद दास, सुबोध कुमार सिंह, प्रेमनाथ महतो, अकलु राम महतो, दशरथ मांझी, बाबुलाल महतो, शक्तिपद महतो, हिरालाल महतो, अजय करमाली, कृष्णा कुमार, रामविलाश टुडू, साजिद अंसारी, सुधीर रजवार, गिरिडीह के दिगम्बर पंडित एवं धनबाद के सुरज कुमार बरणवाल शामिल है। इस अवसर पर चास प्रखण्ड विकास पदाधिकारी कपिल कुमार, परियोजना पदाधिकारी रूपेश कुमार तिवारी, जेएसएलपीएस के निशिकांत, गुरूकुल के प्राचार्य प्रवीण मण्डल, प्रशिक्षक हरिमोहन सिंह, रीजनल मैनेजर नागा रेड्डी सहित प्रशिक्षुओं और उनके माता-पिता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here